मंगलवार, 29 दिसंबर 2015

KNOW ABOUT RSS के लोकार्पण

प्रेस-विज्ञप्ति
डिस्कोर्स इस देश की सबसे बड़ी समस्या है ! - श्री अरुण कुमार जी
संघ एक गोल है मतलब मूवमेंट है अर्थात् समाज है।
नई दिल्ली, 24 दिसम्बर, 2015 (इंविसंके)। संघ एक संस्था नहीं है। यह भ्रम जिनके भी अंदर है वो अपने अंदर से निकाल दें। क्योंकि, “संघ “एक गोल (लक्ष्य) है मतलब मूवमेंट है अर्थात् समाज है।” संघ शुरू से ही ‘समाज में रहकर, समाज निर्माण’ किया है। लोगों में संघ को लेकर एक और भ्रम है, संघ मुद्दों पर कार्य करता है, यह गलत है। मैं बता दूँ, “संघ के पास अपना कोई मुद्दा नहीं है।”

शनिवार, 19 दिसंबर 2015

बांग्लादेश में हिन्दुओं के उत्पीड़न से आहत हिन्दू मंच ने किया विरोध प्रदर्शन

- प्रेस विज्ञप्ति -
बांग्लादेश में हिन्दुओं के उत्पीड़न से आहत हिन्दू मंच ने किया विरोध प्रदर्शन

नई दिल्ली, 19 दिसम्बर 2015 . बांग्लादेश में हिन्दू विरोधी गतिविधियों के तहत हिन्दू मंदिरों पर तोड़फोड़ और धर्मान्तरण के विरोध में हिन्दू मंच दिल्ली के सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने विरोध प्रदर्शन कर विदेश मंत्रालय से इसे रोकने हेतु कार्यवाही की मांग की. हिन्दू मंच दिल्ली प्रान्त के अध्यक्ष श्री अनिल कुमार त्रिपाठी ने बताया कि बांग्लादेश में हिन्दुओं के विरुद्ध बढ़ रही हिंसक एवं आतंकवादी घटनाओं से भारत का सारा हिन्दू समाज क्षुब्ध व आहत हुआ है. इन घटनाओं से हिन्दू समाज में आक्रोश है, जिसके लिए जंतर मंतर पर आज विशाल धरना प्रदर्शन का आयोजन किया गया.

गुरुवार, 17 दिसंबर 2015

जानकारियों व सूचनाओं के विकृतीकरण से नहीं हो पाया है कश्मीर समस्या का समाधान : अरुण कुमार जी

 राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सम्पर्क प्रमुख श्री अरुण जी ने दीन दयाल शोध संस्थान में डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी के बहुआयामी व्यक्तित्व व कृतत्व पर आधारित डॉ. ऋतु कोहली की पुस्तक “डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी और कश्मीर समस्या” का लोकार्पण किया. कार्यक्रम की रिपोर्ट:
नई दिल्ली, (इंविसंके)। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सम्पर्क प्रमुख तथा पूर्व में जम्मू-कश्मीर के प्रांत प्रचारक रहे श्री अरुण कुमार ने बताया कि जम्मू-कश्मीर में सूचनाओं, जानकारियों का विकृतिकरण हुआ है और देश में जम्मू-कश्मीर के बारे में जानकारियों का अभाव है। उन्होंने बताया कि जम्मू-कश्मीर को लेकर कुछ ठीक करना है तो सबसे पहले जम्मू-कश्मीर को लेकर एकेडमिक काम करने की आवश्यकता है। श्री अरुण जी ने दीन दयाल शोध संस्थान में डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी के बहुआयामी व्यक्तित्व व कृतत्व पर आधारित पुस्तक “डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी और कश्मीर समस्या” के लोकार्पण के अवसर पर अपने विचार प्रकट किये।

बुधवार, 9 दिसंबर 2015

अयोध्या आन्दोलन के पुरोधा श्री अशोक सिंहल जी का निधन

हिन्दू हृदय सम्राट और अयोध्या आन्दोलन के पुरोधा   श्री अशोक सिंहल जी का निधन

नब्बे के दशक में श्रीराम जन्मभूमि आन्दोलन जब अपने यौवन पर था, उन दिनों जिनकी सिंह गर्जना से रामभक्तों के हृदय हर्षित हो जाते थे, उन श्री अशोक सिंहल को संन्यासी भी कह सकते हैं और योद्धा भी; पर वे जीवन भर स्वयं को संघ का एक समर्पित प्रचारक ही मानते रहे।
    अशोक जी का जन्म आश्विन कृष्ण पंचमी (27 सितम्बर, 1926) को उ.प्र. के आगरा नगर में हुआ था। उनके पिता श्री महावीर सिंहल शासकीय सेवा में उच्च पद पर थे।

पत्रकारिता प्रशिक्षण वर्ग मीराट

हाल मे एक पत्रकारिता प्रशिक्षण वर्ग कि आयोजन किया गया था मीराट मे। उसि पत्रकारिता प्रशिक्षण वर्ग कि एक फटो देखें।

गुरुवार, 3 दिसंबर 2015

असहिष्णुता की साजिश पर प्रफुल्ल मेहता

देश असहिष्णुता की साजिश में तो नहीं!:इक बात मेरे दिल की
Proful Mehta

भारत का मीडिया भारत की सहिष्णुता , स्वतन्त्रता का भरपूर आनंद ले रहा लगता है। यदि भारतीय मीडिया की बात करे तो उसको देख कर लगता है इस देश के हालात नर्क से भी बदतर है। कई बार यह लगने लगता है कि यह दुस्प्रचार शायद विदेशी मीडिया कर रहा मगर कर भारतीय मीडिया रहा है।  अगर आप मीडिया की इस थोपे हुए विचार से ताल्लुक नहीं रखते तो आप असहिष्णु है।  मीडिया ने जो कह दिया वही सच है, आपको मानना ही पड़ेगा।