मंगलवार, 27 अक्तूबर 2015

व्यक्ति-निर्माण की पाठशाला है संघ : श्री राजकुमार

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, रायपुर महानगर
प्रेस—विज्ञप्ति
आरएसएस ने मनाया विजयादशमी उत्सव
व्यक्ति-निर्माण की पाठशाला है संघ : श्री राजकुमार
नगर के विभिन्न मार्गों में 500 तरूण स्वयंसेवकों ने किया पथ-संचलन

रायपुर. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का स्थापना दिवस तथा विजयादशमी उत्सव आज सप्रे शाला मैदान में प्रात:काल सम्पन्न हुआ। इस अवसर पर मुख्य वक्ता के तौर पर उपस्थित संघ के क्षेत्र संपर्क प्रमुख श्री राजकुमार जी ने कहा कि यदि हिन्दु समाज छुआछूत, जातिवाद या संप्रदाय-भेद से ऊपर उठकर आगे बढ़े तो दुष्ट शक्तियां हतोत्साहित-पराजित हो सकेंगी।
उन्होंने कहा कि आरएसएस की स्थापना के 90 साल पूरे हो गए हैं तथा संघ ने अपनी शाखाओं के माध्यम से व्यक्ति-निर्माण का जो कार्य किया है, उसी के अनुरूप आज हिन्दु समाज एकात्मता के साथ खड़ा हुआ है, उसमें गौरव-भाव जागा है।

क्षेत्र संपर्क प्रमुख श्री राजकुमार जी ने आगे कहा कि राष्ट्र-जीवन के लिए जो शक्ति आवश्यक है, उसमें संस्कारित और देशभक्ति से ओतप्रोत व्यक्तियों की आवश्यकता है तथा संघ की शाखाएं इसी अनुरूप कार्य कर रही हैं। विश्व में भारतीय संस्कृति को सराहा जा रहा है। संयुक्त राष्ट संघ ने विश्व योग दिवस घोषित किया जिसे दुनिया के कई देशों ने मनाया। मुख्य वक्ता के तौर पर श्री राजकुमार जी ने आगे कहा कि हिन्दुत्व के संस्कारों के आधार पर देश की एकता सुद्रढ़ हुई है। उसके श्रेष्ठ तत्व ज्ञान, उदारता, सहद्यता और अपनत्व की एकात्मा के चलते आतंकवादी शक्तियां हतोत्साहित हुई हैं। हिन्दु समाज में हिंसा व कटुता के लिए कोई जगह नहीं है। भारतीय संस्कृति महासागर की तरह है। इस देश में कई आक्रमणकारी आए और यही के होकर रह गए, यहां की संस्कृति में घुल मिल गए।

श्री राजकुमार जी ने आगे कहा कि हिन्दु समाज में सब भाई हैं तथा कोई अछूत नही है, संघ इसी भावना के साथ कार्य करते हुए आगे बढ़ रहा है क्योंकि उसके सामने भगवान राम-कृष्ण जैसे आदर्श हैं। उपस्थित स्वंयसेवकों से आव्हान करते हुए उन्होंने कहा कि देश और समाज के लिए अधिक से अधिक समय दें, शाखा-तंत्र को मजबूत करें तो समाज की दुष्ट शक्तियां अपने आप हतोत्साहित और पराजित होंगी।

मंच पर विशिष्ट अतिथि के रूप में प्रांत सह संघचालक, अस्थि रोग विशेषज्ञ डॉ. पूर्णेन्दु सक्सेना तथा महानगर संघचालक श्री उमेश अग्रवाल उपस्थित थे। दोनों ने उपस्थित स्वयंसेवकों को विजयादशमी उत्सव की बधाई और शुभकामनाएं दी। कार्यक्रम की शुरूआत शस्त्र पूजन से हुई तत्पश्चात प्रात: 8 बजे लगभग 500 तरूण स्वयंसेवकों ने आकर्षक घोष वाद्य दल के साथ नगर में मंत्रमुगध कर देने वाला पथ संचलन किया जो विभिन्न नगरों से होता हुआ सप्रे शाला मैदान में खत्म हुआ।

इस दौरान कई संस्थाओं ने स्वयंसेवकों का पुष्प-वर्षा कर स्वागत किया। कार्यक्रम में 150 वरिष्ठ स्वयंसेवकों के बीच परिवार प्रबोधन का कार्यक्रम हुआ जिसमें श्री महेश बिड़ला, श्री शशांक शुक्ल ने संबोधित किया। समारोह में मुख्य तौर पर प्रांत प्रचारक श्री दीपक विस्पुते जी, वरिष्ठ प्रचारक शांताराम जी सर्राफ, प्रांत सह प्रचार प्रमुख कनिराम जी तथा विभाग प्रचारक नारायण नामदेव उपस्थित थे। ध्वजावतरण के साथ कार्यक्रम का समापन हुआ।
---
-
धन्यवाद्,
छत्तीसगढ़ विश्व संवाद केंद्र
गद्रे भवन, जवाहर नगर, रायपुर.
संपर्क : 09826550374


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें