बुधवार, 24 जून 2015

बजरंग दल दिल्ली का प्रशिक्षण शिविर

योग, ध्यान, प्राणायाम व आतंकवाद के विरुद्ध प्रदर्शन से संपन्न हुआ बजरंग दल दिल्ली का प्रशिक्षण शिविर
नई दिल्ली जून 21, 2015। योग, ध्यान, प्राणायाम तथा आतंकवाद के विरुद्ध लडाई के प्रदर्शन के साथ ही बजरंग दल दिल्ली के सप्ताह भर चले शौर्य प्रशिक्षण शिविर का आज समापन हो गया। इस अवसर पर बोलते हुए विहिप के केन्द्रीय मंत्री श्री राजेन्द्र सिंह पंकज ने कहा कि यह एक संयोग ही है कि दिल्ली प्रान्त के इस शिविर का समापन उस दिन हो रहा है जब भारतीय संस्कृति के महा पर्व योग दिवस को पूरा विश्व मना रहा है। जहां डिस्को, ड्रिन्क व ड्रग्स की संस्कृति ने आज देश के असंख्य नौजवानों को जकड़ रखा है वहीं बजरंग दल ने योग, ध्यान, प्राणायाम व सूर्य नमस्कार जैसे अनेक माध्यमों से उनके अन्दर सेवा, सुरक्षा, संस्कार और आत्म स्वाभिमान का भाव जागृत करने का अनुपम कार्य किया है।

गुरुवार, 18 जून 2015

चित्त की वृत्तियों का निरोध ही योग है

योगश्चित वृत्ति निरोध:' अर्थात चित्त की वृत्तियों का निरोध ही योग है। यदि साधारण शब्दों में कहें तो मन जो कि चंचल स्वभाव का होता है और उसमें उपस्थित जो दोष होते हैं उनको अपने नियंत्रण में रखने की क्रिया को योग कहा जाता है। यदि दूसरे शब्दों में कहें तो जिस माध्यम द्वारा आत्मा का परमात्मा से मिलना हो सकता है उसी को योग कहते हैं। पतंजलि योग सूत्र के अनुसार योग का अर्थ है 'समाधि' जो योग की अंतिम अवस्था है। दरअसल योग क्या है यह हमारे शास्त्रों में पहले से वर्णित किया गया है, लेकिन हमारे शास्त्रों में यह जानकारी बिखरी हुई थी।

रविवार, 14 जून 2015

गुरु पूर्णिमा - गुरु के प्रति आभार का दिन

गुरुर्ब्रह्मा गुरुर्विष्णु: गुरुर्देवो महेश्वर:।
गुरु साक्षात् परम्ब्रह्म तस्मै श्री गुरुवे नम:।।
भारतीय संस्कृति में अनादिकाल से ही गुरु को विशेष दर्जा प्राप्त है। यहां गुरु-शिष्य परंपरा सदियों पुरानी है। हमारे यहां गुरु को ईश्वर से भी ऊंचा स्थान प्राप्त है। गुरु को ईश्वर का साक्षात्कार करवाने वाला माना गया है। गुरु की महानता का परिचय संत कबीर के इस दोहे से हो जाता है -

एकरस समाज बनाने के लिये जाति से ऊपर उठें : अशोक बेरी

नई दिल्ली, 13 जून(इंविसंके). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की अखिल भारतीय कार्यकारिणी के सदस्य श्री अशोक जी बेरी ने आज यहां स्वयंसेवकों से देश में चातुरवर्ण्य जाति-व्यवस्था को सामाजिक समरसता के लिये अत्यंत बाधक बताते हुए राष्ट्रबोध जागरण के काम में जुटने का आह्वान किया और कहा कि संघ समतायुक्त, शोषणमुक्त समाज का निर्माण चाहता है, इसके लिये सभी का योगदान अपेक्षित है.

शनिवार, 13 जून 2015

सोशल मीडिया से सम्बंधित कार्यकर्ताओं की अ. भा. बैठक 11 व 12 जुलाई, 2015

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ

केशव कुञ्ज, झण्डेवाला, देशबन्धु गुप्त मार्ग, नई दिल्ली - 110055

बंधुवर,
सस्नेह नमस्कार.

आशा है ईश्वर की कृपा से आप सभी कुशल होंगे. सोशल मीडिया से सम्बंधित कार्यकर्ताओं की अ. भा. बैठक 11 व 12 जुलाई, 2015 का परिपत्र आपको प्राप्त हुआ होगा. उस परिपत्र में स्थान का उल्लेख नहीं था, इसलिए यह पत्र भेज रहे हैं.

रविवार, 7 जून 2015

दुर्गा वाहिनी ने सिखाए आत्म रक्षा के गुण

नारी स्वाभिमान सम्मान व संस्कृति रक्षार्थ जुटी है दुर्गा वाहिनी:मीनाक्षी ताई
सप्ताह भर के शिविर में दुर्गा वाहिनी ने सिखाए आत्म रक्षा के गुण   नई दिल्ली, जून 7, 2015। विश्व हिन्दू परिषद की महिला शाखा दुर्गा वाहिनी द्वारा चलाए गए सप्ताह भर के शौर्य प्रशिक्षण शिविर का आज समापन हो गया। इस अवसर पर मुख्य वक्ता के रूप में बोलते हुए मातृ शक्ति की राष्ट्रीय संयोजिका व विहिप की केन्द्रीय मंत्री मीनाक्षी ताई ने कहा कि नारी सम्मान, स्वाभिमान व संस्कृति की रक्षा हेतु दुर्गा वाहिनी की भूमिका सराहनीय है।

महान क्रान्तिकारी रासबिहारी बोस

भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के महान क्रान्तिकारी रासबिहारी बोस    लेखक : भाई विशाल अग्रवाल
देश की आजादी के लिए अपना सर्वस्व न्योछावर कर देने वाले क्रांतिकारियों का जब जब जिक्र होगा, 1911 से 1945 तक अनवरत अपने आपको भारत की आज़ादी की लड़ाई के लिए तिल तिल गलाने वाले महान क्रांतिकारी रासबिहारी बोस (Ras Bihari Bose) का नाम हमेशा आदर के साथ लिया जाता रहेगा, जिनका 25 मई को जन्मदिवस है। रासबिहारी ब्रिटिश राज के विरुद्ध गदर षडयंत्र एवं आजाद हिन्द फौज के प्रमुख संगठनकर्ता थे।

गुरुवार, 4 जून 2015

खौफ या आतंक के उत्सव से दिल्ली को बचाओ : विहिप

नई दिल्ली जून 1. 2015 मुस्लिम त्योहारों ख़ास कर शब ए बारात के मौके पर मुस्लिम युवकों द्वारा दिल्ली की कानून व्यवस्था को ताक पर रख कर दिल्ली वासियों का जीना दूभर किए जाने की गत कुछ वर्षों की घटनाओं को देखते हुए विश्व हिन्दू परिषद (विहिप) ने इस बार एतिहातन कदम उठाए हैं.

बुधवार, 3 जून 2015

प्रधानमंत्री ने सहकारिता को राजनीति से मुक्त करने की बात की

एनडीए सरकार के एक साल पूरे होने पर हिन्दुस्थान समाचार बहुभाषी न्यूज एजेंसी को दिए अपने विशेष साक्षात्कार में भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने सहकारिता को राजनीति से मुक्त करने की बात की। किसानों द्वारा आत्महत्या करने का सिलसिला नहीं रुकने के सवाल पर प्रधानमंत्री ने समस्या को जड़ से खत्म करने के प्रयासों पर काम करने का आह्वान किया। वहीं स्वच्छ भारत और गंगा स्वच्छता अभियान को लेकर अपना संकल्प दोहराया। हिन्दुस्थान समाचार बहुभाषी न्यूज एजेंसी के एडिटोरियल डॉयरेक्टर श्रीराम जोशी को दिए अपने विशेष साक्षात्कार में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कुछ निजी बातें भी शेयर की।

आश्रम व्यवस्था मानव जीवन का आधार : डा सुरेन्द्र जैन

नई दिल्ली जून 2, 2015. वेदों, उपनिषदों तथा पूज्य संतों द्वारा दिखाई गई आश्रम व्यवस्था मानव जीवन का मूलाधार है। बृह्मचर्य आश्रम जहां जीवन को जीने के लिए आवश्यक ज्ञान, ध्यान, सुसंस्कार, ऊर्जा तथा मूल्याधारित शिक्षा ग्रहण करने का मूल श्रोत है वहीं गृहस्थ आश्रम साधनों के उचित उपभोग, उत्तम संतति, सेवा तथा जन कल्याण का मार्ग प्रशस्त कर शेष दो आश्रमों की नींव रखता है। विश्व हिन्दू परिषद की प्रवक्ता डा विजय प्रभा अग्रवाल के जीवन के साठ वर्ष पूर्ण होने के अवसर पर आयोजित षष्ठी-पूर्ति कार्यक्रम को संबोधित करते हुए विहिप के अंतर्राष्ट्रीय संयुक्त