बुधवार, 6 मई 2015

R.S.S. की 20000 स्वयंसेवकों की टीम भी सहायता के लिए नेपाल गयी।

R.S.S. की 20000 स्वयंसेवकों की टीम भी सहायता के लिए नेपाल गयी।
मुरारी बापू ने ५१ लाख रूपये की सहायता भेजी।
बाबा रामदेव अपने शिविर के दौरान काठमांडू में ही लोगों की सहायता हेतु अपनी टीम के साथ उपलब्ध रहेंगे
रेल मंत्री ने १ लाख रेल नीर की बोतल नेपाल भेजी।। 
आर्ट ऑफ़ लिविंग के 600 पूर्ण कालिक volunteer नेपाल रवाना । अपने साथ लगभग 50 ट्रक राहत सामग्री और खाने पिने की व्यवस्था भी की । साथ ही 10000 टेंट की व्यवस्था की गयी                    

  👉दिल्ली के गुरुद्वारा शीशगंज द्वारा प्रतिदिन 25000 लोगो का लंगर की व्यवस्था की गयी नेपाल मे।         

    👉माँ अमृतमयी आश्रम वेलोर द्वारा 5000 शर्णात्रियो को मदद की जा रही है                        

   👉राष्ट्रिय स्वयं सेवक संघ की शाखा विवेकानंद फाउंडेसन ने 2 करोड़ रूपए प्रधानमन्त्री फण्ड मे जमा करवाय साथ ही वनवासी कल्याण आश्रम के 1200 सदस्य राहत कार्यो के लिए नेपाल पहुचे                                     

👉बाबा रामदेव ने 3 हेलीकॉप्टर स्वयं के खर्चे पर काठमांडू बुलवाये राहत कार्यो के लिए            

👉भारत सरकार ने 49 ndrf टीम नेपाल बेझि साथ ही 30 हेलीकॉप्टर 2 हरक्यूलिस विमान 5000 डॉक्टर और करोड़ो रूपए की दवाईया रवाना की

अब क्यों चुप है मीडिया ? और कहाँ गए सेक्युलर नेता जो रेहनुमायि करते फिरते थे । कोई मुस्लिम संगठन मदद के लिए क्यों नहीं गया, वो हकला शाहरूख जो पाकिस्तान मे आये बाढ़ के बाद कार्यक्रम करके चंदा इकठ्ठा करता था क्या उनकी अब कोई नैतिक जिम्मेदारी नेपाल के लिए नही है?? 

  👉अब कहा गए इमाम बुखारी क्यों नही मदद के लिए आगे आते ??

.संचार मंत्री आर एस प्रशाद से नेपाल में बीएसएनएल से फ़ोन लोकल के
चार्ज पर बात की सुबिधा दी..
.
ऊर्जा मंत्री पियूष गोयल ने इंजिनियरओ की टीम भेजी ताकि बिजली
पॉवर ग्रिड को सुधारा जाए...
.
शिरोमणि गुरुद्वारा समिति ने 25000 खाने के पेकेट रोज भेजने क पेशकस
सरकार को की..
.
प्रधानमन्त्री के के द्वारा ...3 टन राहत सामग्री ..और दिल्ली बीजेपी
की और से दो ट्रक में मेडिसिन, चावल, तम्बू भेजे गए और शाम तक विशेष
विमान से पहुँच भी गए....
.
मिलिट्री इंजिनियर सर्विस ने 24 घंटे राहत कंट्रोल रूम सुरु किया....
.
वही नौकरशाह ...बही राहत सामग्री...... अंतर केवल नेतृत्व का.....------------------------------------********
कुछ सरकारे ...मीडिया और फोटो सेसन के इंतज़ार में कई दिन निकाल
देती है... औरकुछ सरकार बिना बोले ही तुरंत कार्य चालू कर देती है.........और बिना
मीडिया की खबरों के...
......कुछ लोग दिल्ली में भी बैठे है.... जो सुबह यदि कुत्ता घुमाने भी
जाये तो मीडिया को बता के जाते है....

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें