शुक्रवार, 8 मई 2015

दिल्ली के महिला और तीन वर्षीय बेटी का अपहरण

  प्रेस विज्ञप्ति: 
 दिल्ली के द्वरिका से महिला और तीन वर्षीय बेटी का अपहरण
24 दिन से कोई सुराग नहीं, विहिप ने लगाई एसीपी से गुहार
नई दिल्ली। मार्च 07, 2015। दक्षिण पश्चिमी दिल्ली के द्वारिका क्षेत्र से एक 23 वर्षीया महिला का उसकी साढे तीन वर्षीया बेटी के साथ अपहरण का सनसनीखेज मामला प्रकाश में आया है। अप्रेल के दूसरे हफ़्ते में घटी इस घटना के एक सप्ताह बाद दिल्ली पुलिस ने आईपीसी की धारा 365 के तहत अपहरण का मुकदमा तो दर्ज कर लिया किन्तु 24 दिन बीत जाने पर भी पुलिस हाथ पर हाथ धरे बैठी है।
द्वारिका फ़ेस-3 के ही सेक्टर-3 निवासी बसीम खान उर्फ़ सोनू नामक व्यक्ति के विरुद्ध थाना विन्दापुर में नामजद शिकायत तथा अभियुक्त द्वारा जान से मारने की धमकी के बावजूद अभी तक किसी भी प्रकार की कार्यवाही नहीं किए जाने से महिला के पति श्री पिन्टू शर्मा और उनके परिजन बेहद आतंकित हैं। दिल्ली में बढ रहीं लव जिहाद और मुस्लिम अतिवाद की घटनाओं से छुब्द विश्व हिन्दू परिषद का एक स्थानीय प्रतिनिधि मण्डल जिला मंत्री श्री राजवीर गहलौत के नेतृत्व में क्षेत्रीय पुलिस सह-आयुक्त(CP) से मिला और अभियुक्त की अविलम्ब गिरफ़्तारी, महिला और उसकी बेटी की अपहरण कर्ता से मुक्ति तथा इस प्रकार घटनाओं पर पूर्ण अंकुश की मांग की।  
विस्तृत जानकारी देते हुए विहिप दिल्ली के प्रवक्ता श्री विनोद बंसल ने बताया कि गत 14 अप्रेल 2015 को 23 वर्षीया संजू शर्मा अपनी साढे तीन वर्षीया बेटी के साथ द्वारिका के पप्पन कला स्थित अपने निवास पर थीं। पति श्री पिण्टू शर्मा के काम पर चले जाने के बाद सरे आम बसीम खान नामक एक इस्लामिक जिहादी युवक ने चाकू की नोक पर उन्हें घर से उठा लिया और विरोध करने पर शिकायत कर्ता की मां को घायल कर गया। घटना का पता चलते ही गरीबी की हालत में किसी तरह अपना गुजर-बसर करने वाले पिंटू ने पुलिस से शिकायत तो की किन्तु, अनेक मिन्नतों के बाद दिल्ली पुलिस ने घटना के आठ दिन बाद, यानि 21/04/2015 को भारतीय दण्ड संहिता की धारा 365 के अंतर्गत प्राथमिकी (एफ़आईआर) संख्या 576 दर्ज करने को ही अपने कर्तव्य की इतिश्री समझ ली। अनेक बार पुलिस स्टेशन का दरवाजा खटखटाने के बाद कल पुलिस को दी अपनी लिखित शिकायत में शिकायत कर्ता ने यह भी लिखा कि शातिर आरोपी खुले आम घूम रहा है और उसका हौसला इतना बढ गया है कि मुझे और मेरे परिजनों को जान से मारने की धमकी दे रहा है।
घटना की गंभीरता और इस्लामिक जिहादियों के बढते समाज विरोधी षडयंत्रों से छुब्द विश्व हिन्दु परिषद उत्तम नगर जिला के पदाधिकारियों ने आज क्षेत्रीय एसीपी से भेंट कर मामले में अविलम्ब कार्यवाही की मांग की। प्रतिनिधि मण्डल में विहिप के सह जिला मंत्री श्री भारत बत्रा, खण्ड अध्यक्ष डा मुकेश तोमर, उपाध्यक्ष श्री पवन तोमर, बस्ती प्रमुख श्री शेखावत तथा स्थानीय मार्केट एसोसिएशन के प्रधान श्री सुनील सामिल थे।
विहिप दिल्ली के महा मंत्री श्री राम कृष्ण श्रीवास्तव ने दिल्ली के विविध थानों में दर्ज उन सभी शिकायतों की निष्पक्ष जांच करा कर उनके शीघ्र निपटारे की मांग की है जिनमें हिन्दू महिला के अपहरण या गायव होने में किसी गैर हिन्दूओं (मुस्लिमों) के सामिल होने या उनका हाथ होने की बात की गई हो या संदेह हो। उन्होंने इस बात पर भी हैरानी व्यक्त की कि बात बात पर हिन्दू सगठनों को कट्घरे में खडा करने वाले लोग आखिर इस प्रकार की घटनाओं पर अपना मौन क्यों साध लेते हैं? अन्यथा क्या कारण है कि एक 23 वर्षीया महिला का उसकी साढे तीन वर्षीया बेटी के साथ दिल्ली के द्वारिका से अपहरण हो जाए और राजधानी की पुलिस, प्रशासन व मीडिया में किसी भी प्रकार की चर्चा न हो।
भवदीय
 विनोद बंसल,
प्रवक्ता, विश्व हिंदू परिषद, दिल्ली
   मो : 9810949109

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें