मंगलवार, 26 मई 2015

आर्य समाज मंदिर तोड़े जाने पर प्रचण्ड प्रदर्शन

मेयर द्वारा पुनर्निर्माण के भरोसे के बाद ही शांत हुए प्रदर्शनकार
 नई दिल्ली, मई 24, 2015। उत्तरी दिल्ली के फ़िल्मिस्तान सिनेमा के नज़दीक डीसीएम रेलवे कॉलोनी स्थित आर्य समाज मंदिर को तोड़े जाने से आक्रोषित हिंदू धर्मावलंबियों ने आज विरोध स्वरूप जमकर प्रदर्शन किया। दिल्ली भर से जुटे आर्य समाज, विश्व हिन्दू परिषद तथा अन्य धार्मिक संगठनों के लोगों, वरिष्ठ संतों और मूर्धन्य विद्वानों ने श्रद्धा, विश्वास, आध्यात्मिक ऊर्जा व राष्ट्र निर्माण के कार्य में प्रमुख भूमिका निभाने वाले
मंदिर को तोड़े जाने पर गहरी नाराज़गी व्यक्त करते हुए इसके अविलंब पुनर्निर्माण की मांग की। प्रदर्शन से पूर्व एक महा-यज्ञ का आयोजन भी मंदिर के सामने किया गया। प्रदर्शन कारियों को संबोधित करते हुए दिल्ली आर्य प्रतिनिधि सभा के महामंत्री श्री विनय आर्य ने कहा कि आर्य समाज की शक्ति को यदि कोई कम तर आंकता है  तो उसकी बहुत बड़ी भूल होगी। जब तक मूल स्थान पर भव्य मन्दिर निर्माण नहीं होगा तब तक हमारा आंदोलन जारी रहेगा। प्रदर्शन के दौरान ही उत्तरी दिल्ली नगर निगम के मेयर श्री रविंद्र गुप्ता के इस वादे पर कि मंदिर के संदर्भ में आर्य समाज जो कहेगा, हम करेंगे, प्रदर्शनकारी शांत हुए। रानी झाँसी रोड का ट्रैफ़िक भी इस कारण कुछ समय के लिये बाधित रहा।
ज्ञातव्य रहे कि गत 20 मई को विकास कार्यों की आड़ में एम सी डी रेलवे कॉलोनी स्थित आर्य समाज मंदिर को पूरी तरह ज़मीन-दोज़ कर दिया था। यह खबर जैसे ही आर्य समाज व अन्य हिन्दू वादी संगठनों तक पहुँची तो लोग आक्रोष से भर उठे। दिल्ली आर्य प्रतिनिधि सभा, आर्य केंद्रीय सभा तथा अन्य संगठनों के पदाधिकारियों में से कुछ संबंधित सरकारी अधिकारियों से मिले और कुछ ने साथ ही साथ तोड़े गए मंदिर का पुनर्निर्माण प्रारंभ कर सतत यज्ञ जारी रखा। प्रदर्शन से पूर्व आयोजित एक महा-यज्ञ के उपरांत बोलते हुए विहिप के प्रवक्ता श्री विनोद बंसल ने कहा कि मंदिर तोड़े जाने की दृष्टता को हिंदू समाज बर्दाश्त नहीं कर सकता। उन्होंने जहाँ सरकारी तंत्र को जनहित के लिए मंदिरों के विनाश की बजाय विकास में सहभागी बनने को कहा वहीं समाज के प्रत्येक व्यक्ति को अधिकाधिक संख्या में नियमित रूप से मंदिरों की गतिविधियों में सक्रिय भूमिका निभाने को भी प्रेरित किया जिससे कोई दुष्ट वृत्ति उसके ऊपर आँख भी न उठा सके। जब तक मन्दिर का पुन: निर्माण नहीं हो जाता विहिप कार्यकर्ता चुप नहीं बैठेंगे।  
संक्षिप्त सूचना पर पहुँचे सैकडों प्रदर्शनकारियों में आर्य विद्वान स्वामी प्रणवानंद, आचार्य वागीश, दिल्ली आर्य प्रतिनिधि सभा के प्रधान श्री धर्मपाल आर्य, आर्य केंद्रीय सभा के प्रधान व एम डी एच के संस्थापक महाशय धर्मपाल, आर्य समाज करोल बाग के प्रधान श्री कीर्ति शर्मा, कीर्ति नगर के प्रधान श्री वागीश इस्सर, उत्तरी दिल्ली नगर निगम के पूर्व मेयर श्री योगेंद्र चंदोलिया, स्थानीय विधायक श्री रवि, निगम पार्षद श्री जैन, दिल्ली के चारों वेद प्रचार मण्डलों के पदाधिकारी, हरियाणा, उत्तर प्रदेश व उत्तराखंड के विशिष्ट पदाधिकारियों के अलावा बड़ी संख्या में महिलाएँ व बच्चे भी शामिल हुए।
 भवदीय

विनोद बंसल
प्रवक्ता, विश्व हिंदू परिषद - दिल्ली।
मो : 9810949109

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें