गुरुवार, 30 अप्रैल 2015

विहिप ने किया कड़ा विरोध

प्रेस विज्ञप्ति

पाकिस्तान द्वारा नेपाल में भूकम्प पीड़ितों को भेजी राहत सामग्री में गौमांस का विहिप ने किया कड़ा विरोध

नई  दिल्ली अप्रेल 30, 2015. पाकिस्तान द्वारा नेपाल में भूकम्प पीड़ितों को भेजी राहत सामग्री में गौमांस मिले होने पर विश्व हिन्दू परिषद ने कड़ा विरोधजताया है. विहिप दिल्ली के महा मंत्री श्री रामकृष्ण श्रीवास्तव ने सहायता के नाम पर पाकिस्तान की ओछी मानसिकता को धिक्कारते हुए कहा है कि भगवान न करे, ऐसी आपदा अगर पाकिस्तान में आई होती, लोग हफ़्तों से भूखे प्यासे हों और उनको खाने के लिए सूअर (pig) का मास दे दिया जाये तो क्या ये मानवता सम्मत होगा? ऐसी सामग्री क्या राहत सामग्री कहलायेगी?

विश्व हिन्दू परिषद द्वारा नेपाल भूकम्प पीडि़तों के सहायता

प्रैस विज्ञप्ति
विश्व हिन्दू परिषद द्वारा नेपाल भूकम्प पीडि़तों के सहायता
डाॅ0 प्रवीणभाई तोगडि़या अन्तरराष्ट्रीय कार्याध्यक्ष-विहिप

दिनांक 29 अपैल, 2015, पटना (बिहार) आज विश्व हिन्दू परिषद के अन्तरराष्ट्रीय कार्याध्यक्ष डाॅ. प्रवीणभाई तोगडि़या ने नेपाल के भूकम्प पीडि़त बन्धुओं के सहायता के लिए 500 कम्बल, 500 तिरपाल, 500 टार्च, दो वाहनों को हरी झण्डी दिखाकर काठमाण्डु (नेपाल) के लिए प्रस्थान करवाया।

गुरुवार, 23 अप्रैल 2015

निर्दयता ने ली एक गाय की जान, दूसरी हुई लंगडी

प्रैस विज्ञप्ति
निगम कर्मियों की निर्दयता ने ली एक गाय की जान, दूसरी हुई लंगडी, अस्पताल में कराया भर्ती
विहिप-बजरंग दल ने किया सदर बाजार में हंगामा, जांच की मांग
नई दिल्ली। अप्रेल 22, 2015। दिल्ली के भीड भाड भरे सदर बाजार में आज बुधवार सुबह उस समय अफ़रा-तफ़री मच गई जब दिल्ली नगर निगम के कुछ लापरवाह और निर्मम कर्मचारियों की कर्तूतों की वजह से एक गाय की जान चली गई तथा दूसरी को अपनी दो टांगें गँवानी पड़ीं। विहिप के जिला मंत्री श्री पुरुषोत्तम व उपाध्यक्ष श्री मुकेश नाइक के नेतृत्व में विहिप - बजरंग दल के कार्यकर्ताओं तथा स्थानीय गौ भक्तों ने जमकर रोष प्रदर्षण किया तथा घटना की जाँच कर दोषियों के विरुद्ध कड़ी कार्यवाही की मांग की।

शनिवार, 18 अप्रैल 2015

आरएसएस नॉएडा द्वारा बाल संस्कार शिविर

उ प्र : आरएसएस नॉएडा महानगर द्वारा बाल संस्कार शिविर का भव्य आयोजन।
राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ नॉएडा महानगर के तत्वावधान में एक दिवसीय बाल संस्कार शिविर का आयोजन भाऊ राव देवरस सरस्वती विद्या मंदिर में किया गया। इस शिविर में नॉएडा महानगर के 8 वी तक के 489 स्वयंसेवकों ने भाग लिया।

बुधवार, 15 अप्रैल 2015

डॉ तोगड़िया ने किया डॉ बाबासाहेब आंबेडकर जी की मूर्ती का माल्यार्पण

प्रेस विज्ञप्ति   
डॉ बाबासाहेब आंबेडकर जी की मूर्ती का डॉ तोगड़िया ने किया माल्यार्पण, दोहराया 'छुआछूत मुक्त भारत' का संकल्प
कर्णावती, १ ४ अप्रैल, २०१५ : "छुआछूत मुक्त  भारत" का संकल्प दोहराते हुए विश्व हिन्दू परिषद के आंतरराष्ट्रीय कार्याध्यक्ष डॉ प्रवीणभाई तोगड़िया जी ने गुजरात के  कर्णावती (अहमदाबाद ) में डॉ बाबासाहेब  आंबेडकर जी  माल्यार्पण किया। डॉ बाबासाहेब  आंबेडकर जी  १२५ वे महा परिनिर्वाण दिन निमित्त बोलते हुए तोगड़िया जी ने कहा, " डॉ बाबासाहेब  आंबेडकर जी दूरदर्शी थे। इस्लाम से लेकर भारत में शिक्षा  तक अनेक विषयों पर उन्होंने  सटीक भाष्य किया है और देश को जागृत  करने का प्रयास किया है । छुआछूत मुक्त भारत के लिए उन्होंने जीवनभर समाज प्रबोधन का कार्य किया। उच्च पदवी लेकर बैरिस्टर बनें आंबेडकर जी चाहते तो विदेश में रहकर करोड़ों रुपये कमा सकते थे, लेकिन उन का मन भारत की सर्वंकष प्रगति में ही लगा रहा।

मंगलवार, 7 अप्रैल 2015

राष्ट्रीय सेवा संगम : होसबले कहीन

होसबले ने बताया व्दितीय राष्ट्रीय सेवा संगम को अव्दितीय प्रयास
नई दिल्ली : राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सरकार्यवाह श्री दत्तात्रेय होसबले ने राष्ट्रीय सेवा भारती के तत्वावधान में आयोजित तीन दिवसीय व्दितीय राष्ट्रीय सेवा संगम को अव्दितीय बताते हुए आशा व्यक्त की कि यह देश में सेवा की सुनामी लाने में सहायक होगा.

शुक्रवार, 3 अप्रैल 2015

सेवा संत अहंकार से सावधान रहें : शंकराचार्य राज राजेश्वराश्रम

नई दिल्ली : शारदापीठ के शंकराचार्य जगद्गुरु राजराजेश्वराश्रम ने आज यहां समरसतानगर में राष्ट्रीय सेवा भारती की विशिष्ट प्रदर्शनी का उद्घाटन किया. उन्होंने राष्ट्र में पारस्परिक आभ्यांतरिक समरसता के लिये आभ्यांतरिक चेतना के विकास पर जोर देते हुए कहा कि संसार में सबसे कठिन कार्य ‘सेवा’ है. जीटी करनाल रोड पर आयोजित तीन दिवसीय राष्ट्रीय सेवा संगम को सेवा कुंभ की संज्ञा देते हे पूज्य शंकराचार्य ने देश भर से आये सेवा संतों को सावधान करते हुए कहा कि सेवा से जहां प्रगल्भता का विकास होता है वहीं अहंकार उत्पन्न होने की काफी आशंका रहती है.

एक महत्वपूर्ण लेख : राज्यसभा का दुरुपयोग

[लेखक हृदयनारायण दीक्षित, उप्र विधान परिषद के सदस्य हैं] - See more at: http://www.jagran.com/editorial/apnibaat-12228049.html?src=HP-EDI-ART#sthash.pPdT5elD.dpuf
[लेखक हृदयनारायण दीक्षित, उप्र विधान परिषद के सदस्य हैं] - See more at: http://www.jagran.com/editorial/apnibaat-12228049.html?src=HP-EDI-ART#sthash.pPdT5elD.dpuf
[लेखक हृदयनारायण दीक्षित, उप्र विधान परिषद के सदस्य हैं] - See more at: http://www.jagran.com/editorial/apnibaat-12228049.html?src=HP-EDI-ART#sthash.pPdT5elD.dpuf
[लेखक हृदयनारायण दीक्षित, उप्र विधान परिषद के सदस्य हैं] - See more at: http://www.jagran.com/editorial/apnibaat-12228049.html?src=HP-EDI-ART#sthash.pPdT5elD.dpuf
‘जनगणमन’ संप्रभु है और चुनावी जनादेश भारत के मन की लोकतांत्रिक अभिव्यक्ति। नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाले राजग को करोड़ों मतदाताओं ने प्रचंड बहुमत से सत्ता सौंपी। उनके नेतृत्व, घोषणापत्र व आश्वासनों पर विश्वास किया। विपक्ष को उसकी औकात बताई। उसे सुझाव व आलोचना का सीमित दायित्व दिया। मोदी जन-अभिलाषा के अनुरूप तेज रफ्तार चले। सरकारी तंत्र की निद्रा टूटी, नई कार्य संस्कृति आई। बेहतर और त्वरित परिणाम के लिए नए विधायन की आवश्यकता होती ही है। विपक्ष ने भूमि अधिग्रहण संशोधन विधेयक सहित कई महत्वपूर्ण विधेयकों को सतही राजनीति का मुद्दा बनाया।

‘संघ पाठशाला’ में सात हजार छात्रों को पढ़ाएंगे भागवत

रेवाड़ी राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ द्वारा शुक्रवार को रोहतक में शुरू हो रहा तरुणोदय-2015 हर लिहाज से खास होगा। वर्ष 1995 के बाद आरएसएस का हरियाणा में ये सबसे बड़ा आयोजन है। तीन दिन चलने वाली इस ‘संघ पाठशाला’ में प्रदेश के विभिन्न जिलों के कॉलेजों में पढ़ रहे सात हजार विद्यार्थियों को राष्ट्रीयता का पाठ पढ़ाया जाएगा। 

खुद संघ प्रमुख मोहन भागवत इस पाठशाला में छात्रों को मां भारती के प्रति समर्पण व कर्तव्य का पाठ पढ़ाएंगे। रोहतक के दिल्ली रोड पर स्थित बाबा मस्तनाथ विश्वविद्यालय परिसर में होने वाले इस भव्य आयोजन से राजनीतिक चेहरों को दूर रहने के लिए कहा गया है। कार्यक्रम का उद्देश्य छात्रों में ऐसे संस्कार विकसित करना है, जिससे उनमें देश के प्रति कर्तव्य बोध हो।

गुरुवार, 2 अप्रैल 2015

किशनगंज मे मोहन भागवत : विस्तारित समाचार

माता सरस्वती के साथ लेकर आए मोहनराव : डॉ. दिलीप

 

संवाद सूत्र, किशनगंज : विद्या की देवी मां सरस्वती समस्त संसार को सुख सुविधा से संपन्न करती हैं। माता सरस्वती के साथ मोहनराव भागवत जी का किशनगंज आये हैं। यह बातें मंगलवार को विधान पार्षद डा. दिलीप कुमार जायसवाल ने कहीं। वे मोतीबाग स्थित सरस्वती विद्या मंदिर परिसर में आयोजित लोकार्पण समारोह में बतौर अध्यक्ष, सरस्वती विद्या मंदिर सरसंघ चालक मोहनराव भगत सहित अतिथियों का स्वागत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि विद्या भारती के अंतर्गत हिंदुत्व एवं राष्ट्रभक्ति से अनुप्राणित शिक्षा देते हुए राष्ट्र के आवश्यकतानुसार निर्माण में अपना यह विद्या मंदिर सर्वश्रेष्ठ है। विद्या मंदिर को तमाम महानुभावों व अभिभावकों का आर्शीवाद प्राप्त है। युवा राष्ट्र के निर्माण में अग्रसर रहे। इस हिंदूमय विद्या मंदिर के तरफ से आप सभी को आभार प्रकट करते हैं। ईश्वर की कृपा से सरस्वती विद्या मंदिर के प्लस टू भवन के लोकार्पण राष्ट्र स्वयं सेवक के सर संघ चालक मोहन राव भागवत के हाथों से होना हमलोगों के लिए गर्व की बात है। वहीं अपने संबोधन के दौरान मोहन भागवत ने इंटर स्तरीय सरस्वती विद्या मंदिर के निर्माण में डॉ दिलीप कुमार के योगदान की भूरि-भूरि प्रशंसा की। कोचाधामन भाजपा मंडल के अध्यक्ष मस्कूर आलम व पूर्व जिप अध्यक्ष शकील अख्तर राही ने मोहनराव भागवत के बौद्धिक उद्भेदन को प्रत्येक अभिभावक की चाहत धड़कन की संज्ञा दी ।



सेवा भारती : दूसरा राष्ट्रीय सेवा संगम 4, 5 और 6 अप्रैल को नई दिल्ली में

जानिये : राष्ट्रीय सेवा भारती अपना व्दितीय राष्ट्रीय सेवा संगम दिल्ली में अनुष्ठित होगी. आगामी 4, 5 और 6 अप्रैल को आयोजित करने जा रही है. यह ब्लू सफायर एण्ड सिटी पैलेस रिसोर्ट, जीटी करनाल रोड, अलीपुर एनएच-,1 दिल्ली में होगा, जिसका केवल तीनों दिनों के लिये पुनःनामकरण ‘‘समरसता नगर’’ के रूप में किया जायेगा. पहला संगम पांच वर्ष पूर्व बंगलुरु में हुआ था.
यह जानका री आज यहां राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के अखिल भारतीय सह सेवा प्रमुख श्री अजित प्रसाद महापात्र ने संवाददाताओं को दी. उन्होंने कहा कि संगम का उद्घोष वाक्य है ‘समरस भारत-समर्थ भारत’.  इसे स्पष्ट करते हुए उन्होंने कहा कि संघ समाज के वंचित वर्ग के लोगों को नारायण मानकर उन्हें आत्म निर्भर बनाना और उनमें स्वाभिमान जाग्रत करना चाहता है.

बुधवार, 1 अप्रैल 2015

अभिव्यक्ति की आजादी

आइटी एक्ट की धारा 66ए रद किए जाने पर रोहित कौशिक की टिप्पणी

कुछ टिप्पणियों और क्रियाकलापों से क्या वास्तव में हमारी भावनाएं आहत होती हैं या फिर हम भावनाएं आहत होने का नाटक करते हैं 

 

यह सुखद है कि सुप्रीम कोर्ट ने अभिव्यक्ति की आजादी पर रोक लगाने वाले आइटी एक्ट की धारा 66ए को असंवैधानिक ठहराते हुए निरस्त कर दिया है। इस धारा के तहत पुलिस को सोशल मीडिया पर तथाकथित आपत्तिजनक विचार लिखने वालों को गिरफ्तार करने का अधिकार मिला हुआ था, हालांकि विवादित पोस्ट करने वालों पर आइपीसी की धाराओं के तहत कार्रवाई हो सकती है।